Prem Kahani


Story Section No.5
 
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani
    वह लड़की कौन थी, कहां रहेती थी, क्या करती थी, कौनसे कॉलेज में किस क्लास में पढ़ती थी, किस की बेटी थी, और उसका नाम क्या था?.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

वह बिंदास बे धड़क साफ़ दिल वाली लड़की थी, उस लड़की का और साहिल का शहर एक ही था पर आज से पहले उन दोनों का आमना सामना या मेल मिलब नहीं हुवा था. वह लड़की भी बी.एस.सी. थर्ड इयर में बढती थी, वह लड़की और साहिल अलग अलग कॉलेज में पढ़ते थे. उस लड़की के पिता उसके कॉलेज के प्रिंसीपल थे जंहा वह लड़की पढ़ती थी. वह लड़की अपने माता पिता की एक लौती बेटी थी और उस लड़की का नाम निधी था.
यह तो हो गई निधी की जानकारी अब बताता हूँ पायल के बारें में. पायल ने जब साहिल के कॉलेज में एडमिशन लिया था उससे कुछ महीने पहले पायल के माता पिता को उनके दुश्मन ने मरवा दिया था. पायल के पिता बहोत गुस्से वाले इंसान थे उनसे गांव का हर कोई डरता था सिवाये एक घर के लोगों को छोड़कर और उस घर वाले का नाम चंदेल था, चंदेल और पायल के पिता एक ही उम्र के थे. पायल के पिता ने गांव और गांव के लोगो के लिय बहोत कुछ किया था. चंदेल गांव में कुछ बुरे काम करता तब पुरे गांव में उसे रोकने वाले सिर्फ एक ही इंसान थे तो वह थे पायल के पिता. पायल के पिता को एक बेटी और एक बेटा था. पायल की माँ, पायल का भाई और पायल इन सब को मार पिटाई से सकत नफरत थी. यह सब मिलकर पायल के पिता को हर बार मार पिटाई करने और चंदेल से दुश्मनी ना करे इस लिए बार बार रोका टोका करते थे लेकिन पायल के पिता कहते थे.
पायल के पिता :- अपने सामने जो गलत होते हुवे देखे और चुप रहे वह एक जिंदा लाश हैं जिंदा वंही होता हैं जो गलत को गलत कहे और सही को सही. गलत काम करने वाले को सजा ज़रूर मिलनी चाहिए और गुन्हेगार को सजा मिलने के लिए मुझे अपनी जान भी गवानी पड़े तो मुझे मंजूर हैं.
    चंदेल ने गांव में शराब की दुकान डाली थी. चंदेल की शराब की दुकान अगले ही दिन पायल के पिता ने तोड़ फोड़ करके बंद करवादी. चंदेल इस अपमान को सहेन नहीं कर पायल और उसने अगले दिन ही पायल के पिता और उसकी माँ को रोड हादसे में मरवा दिया. चंदेल ने तो पायल और उसके भाई को भी मारने का प्लान किया था लेकिन पायल के भाई ने अपने माता पिता के निधन के दिन ही उसने अपनी बहेन को भी अपने साथ शहर अपने घर लाया रहने के लिए.
पायल का भाई उससे बड़ा था वह अपने पिता से हमेशा दूर शहर में रहेता था. उसने अपनी पढाई पूरी करके अपने खुद के बल बूते पर बैंक में नौकरी हासिल की. अपने माता पिता के गुज़र ने के बाद उसने अपने आपको और अपनी बहेन को किसी तरह संभाला. पायल के भाई ने पायल को बहोत दिलासा देकर समझाया तब जाकर पायल ने सब भुलाकर साहिल के कॉलेज में एडमिशन लिया था.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

पायल अपनी जिंदगी की शुरवात नए सिरे से शुरू करने लगी थी. पायल अपने पिता का ग़म भुलाने की कोशिश कर रही थी के तभी उसको साहिल पहले ही दिन मिल गया और साहिल के आजाने से पायल का ग़म धीरे धीरे कम होने लगा था. पायल ने साहिल को पहली दफा देखते ही अपना दिल उसे दे बैठी और साहिल को उसने अपना जीवन साथी अपने मन से मान लिया.
    आज कॉलेज में साहिल और उसके दोस्तों ने नाईट शो के फिल्म देखने का प्लान किया था. साहिल और उसके दोस्तों का तय हो गया के नाईट शो फिल्म को जाना हैं लेकिन पायल को घर पर उसके भाई के काम में हात बटाना था जिसकी वजह से वह फिल्म देखने नहीं आई.
पायल का भाई पायल को एक भाई या दोस्त की तरह रखता था. वह अपनी बहन का पूरा पूरा ध्यान रखा करता था और अपने ऑफिस का काम किस तरह होता हैं, बैंक की नौकरी में क्या क्या काम करने पढ़ते हैं यह सारी माहिती भी अपनी बहन को बताया करता था और इसके साथ पायल की पढाई में भी उसकी मदद किया करता था. पायल भी अपने भाई से कुछ भी छुपाया नहीं करती थी. पायल ने साहिल के बारें में अपने भाई को सब कुछ बता रखा था. साहिल के बारें में सुनने के बाद उसने पायल को कहे बिना या किसी को पता नहीं चलने दिया और चुपके से साहिल के बारें में पूरी जान करी हासिल की के वह कैसा लड़का हैं उसके माता पिता कौन हैं और कैसे नेचर के है ऐसी बहोत सी जानकारी हासिल करने के बाद उसे ऐसा लगा के यह लड़का अच्छा हैं पायल के लिए लेकिन साहिल भी बहोत गुस्से वाला लड़का हैं ठीक उसके पिता की तरह इस बात को उसने अपनी बहन से कहा. पायल को पहले दिन ही पता चल गया था के साहिल गुस्से वाला लड़का हैं लेकिन उसे यह भरोसा था के वह उसका गुस्सा करना बंद कर देगी यह बात उसने अपने भाई को समझाई इस लिए पायल के भाई ने पायल के हां में हां मिलाई थी.
    यह सारे मिलकर नाईट शो को फिल्म देखने के लिए आ गए, साहिल और उसके दोस्त फिल्म देखने आए सिवाए पायल के और इतेफाक से निधी भी वह फिल्म देखने आई थी. साहिल और उसके दोस्त अपनी अपनी सीट पर बैठ गए और निधी साहिल के सामने वाली सीटों की लाइन को छोड़ उसके सामने वाली सीट पर बैठी थी यानी नीती की सीट के पीछे एक सीट और उस सीट के पीछे साहिल की सीट थी. निधी को साहिल से मिलाने में उसका नसीब बहोत सात दे रहा था.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

    फिल्म शुरू हो गई निधी की पिछली सीट पर जो बैठा था वह निधी को बार बार पीछे से परेशान कर रहा था. निधी के सीट के पास जाकर कभी जोर से चिल्लाता और कभी उसकी सीट पर पैर रखता. निधी को उसके साथ वाली सहेली ने रोक रखा था क्यों के निधी की सहेली डर रही थी के यह कही उस लड़के को कुछ भी कहे सकती हैं फिर वह लड़का रात का फायेदा उठा कर हमें कुछ नुक्सान ना करदे, इस तरह की बातें अपने मन में लाकर वह डर रही थी इस लिए उसने निधी को रोक रखा था.
    साहिल की नज़र उस लड़के पर उसकी पहली हरकत पर ही पढ़ी थी. कुछ देर अपने आपको रोका फिर साहिल ने समीर से कहा.
साहिल :- अबे कुछ तो कहे इस को,
समीर :- मै नहीं ऐसे लड़कों को तू ही चाहिए सुधार ने के लिए मुझे फिल्म देखने दे और तू इन को देख.
बस इतना ही सुनना था समीर से साहिल को फिर क्या था दे दनादन साहिल ने उनकी धुलाई शुरू करदी. साहिल ने निधी से माफ़ी मंगवाई और उन्हें थिएटर से बहार निकलवाया.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

साहिल का यह रूप देख निधी और ज्यादा साहिल को अपने मन में चहाने लगी. फिल्म ख़त्म होने के बाद निधी ने साहिल को शुक्रिया कहा और उसके बारें में बातें उसी से पुछली. जैसा के साहिल कहा रहेता हैं वह किस कॉलेज में बढ़ता हैं.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

--:: Meet In The Next Part of The Story ::--

No comments

Powered by Blogger.