Prem Kahani


Story Section No.2
 
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani
कॉलेज का दूसरा दिन और दुसरे ही दिन पायल ने अपना यह इरादा कर लिए के साहिल को अपना बनाना है इस लिय वह उसके डेस्क पर जा बैठी. पायल को अपने आप पर पूरा भरोसा था के उसके हुस्न के जलवो से साहिल बच नहीं सकता वह उसका दीवाना हो जायेगा. जैसा पायल ने सोंचा वैसा ही हुवा साहिल पायल का पहली ही नज़र में उसका दीवाना हो गया.
क्लास ख़त्म होने के बाद सारे बच्चे क्लास से बाहर जा रहे थे. साहिल के दोस्त उसका इंतेज़ार कर रहे थे क्यों की साहिल क्लास में बैठे बैठे उस लड़की को देख रहा था इस लिए साहिल क्लास से बाहर नहीं गया और पायल यह सोंच कर क्लास में ख़त्म होने के बाद भी बैठी रही, के रूद्र सब के चले जाने के बाद उससे बात करेगा. लेकिन बहोत देर तक बैठने के बाद भी साहिल की हिम्मत ही नहीं हुई के वह पायल से कुछ बात करें. कुछ देर बाद पायल क्लास से चली गई अपने घर और रूद्र क्लास से बहार आकर अपने दोस्तों के साथ बातें करते बैठा.
समीर :- लगता है आज सूरज दूसरी तरफ से निकला था शायद क्यों के आज पहली बार भाई ने अपने डेस्क पर किसी को बैठने दिया.
साहिल :- (मुस्कुराहट से) अबे किसने कहा है के मैंने किसी गैर को अपनी जगह पर बैठने दिया हैं, तू डेस्क की बात कर रहा है मैने तो उसे अपने दिल में बिठाया हैं.
समीर :- फिर आज बात क्यों नहीं की उससे.
साहिल :- फूल को हाथ में लेते वक़्त पहले उसकी टहनी को पकड़ ते हैं फिर उस फुल को अपने होंटों से लगाते. आज पहला दिन था इस लिए उससे बात नहीं की कल देख मेरा जलवा.
समीर :- अच्छा तो लगी शर्त अगर तूने उससे कल बात की तो मै तुम सब को खाना खिलाऊंगा अगर चे तो हारा तब तू हमें खाना खिलाएगा.
साहिल :- लग गई, मिलते हैं कल.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

    अगले दिन फिर वह लड़की सब से पहले आकर साहिल के डेस्क पर बैठ गई. कुछ देर बाद दुसरे बच्चे क्लास में आए और उनके साथ साहिल और उसके दोस्त भी क्लास में आकर अपनी अपनी जगा बैठ गए. साहिल अपनी डेस्क के बाजो खड़ा होकर उस लड़की से बात करने लगा.
साहिल :- ए हेल्लो यह मेरी डेस्क हैं और मै यंहा पर हर रोज बैठता हूँ.
पायल :- (उसकी तरफ देखते हुवे) लड़की से बात करने से पहले उसका नाम पूछते हैं ना के यह सब और रहा तुम्हारे बैठने का सवाल तो इस डेस्क पर हम दोनों एक साथ आराम से बैठ सकते हैं.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

साहिल :- (चौंक कर) अच्छा, तो पायल थोडा खिसकना आज से हम तुम सही कहा ना.
    साहिल के चुल बुले अंदाज़ में बातें करने के तरीखे को देख पायल के चहरे पर मुस्कुराहट आ गई. पायल और साहिल एक साथ उस डेस्क पर बैठ गए. साहिल ने वंही बैठे बैठे पीछे मुड़कर समीर से कहा.
साहिल :- समीर आज शाम का खाना तेरी तरफ से बक्का हो गया और हां पायल भी आ रही हैं याद रखना. (पायल से आहिस्ता से कहा) तुम चलोगी ना हमारे साथ रात के खाने पर.
पायल :- कभी भी और कही पर भी आउंगी तुम्हारे लिए.
साहिल :- व हो हो.... क्या बात क्या बात.
    पायल और साहिल की प्रेम कहानी शुरू हो गई. साहिल पायल को उसके घर से अपनी बाइक पर उसे कॉलेज को लता और कॉलेज ख़त्म होने के बाद उसके घर पर छोड़ा भी करता था. इस तरह से साहिल और पायल की पढाई और प्रेम कहनी दोनों चल रही थी.
    एक दिन कॉलेज ख़त्म होने के बाद पायल और साहिल घर जाने के लिए कॉलेज से बहार जा रहे थे तब साहिल के एक दोस्त ने साहिल को रोका बात-चीत करने के लिए दोनों बातें कर रहे थे इस लिए पायल कॉलेज से बाहर आकर साहिल की बाइक के पास कड़ी हो गई साहिल का इंतेज़ार करते हुवे. तब वंहा कॉलेज के कुछ बिगड़े हुवे सीनियर लड़कों ने पायल के साथ बत्तमीजी करने लगे. साहिल के दोस्त से बात ख़त्म करके साहिल पायल के पास आ रहा था के तब उसने सारा माजरा देखा फिर क्या था साहिल का गुस्सा सातवे असमान पर पहोंच गया. साहिल ने आगे पीछे कुछ भी देखे बिना ही उन सब को पीटना शुरू कर दिया.
    भीड़ जमा हो गई सारे कॉलेज के बच्चे कॉलेज से भागते हुवे बाहर आकर साहिल की फाइट देखने लगे. समीर को जब पता चला साहिल के बारें में तब समीर फ़ौरन भागकर वंहा आया साहिल को रोकने के लिए. समीर और पायल दोनों ने बहोत कोशिशों के बाद साहिल रोका किसी तरह रोका. अगरचे आज समीर और पायल वंहा नहीं होते तो साहिल उनको मार ही डालता. समीर ने साहिल और पायल को अपने घर ले गया साहिल का गुस्सा कम करने के लिए.
समीर :- (गुस्से से L) साहिल तू कब यह मार पिटाई करना बंद करेगा.
साहिल :- अब इस में मेरी क्या गलती थी वह पायल को छेड़ रहे थे उनको सजा तो मिलना ज़रूरी थी ना.
पायल :- (वह भी गुस्से से) हां मिलनी चाहिए थी लेकिन उन्हें सजा देने वाले तुम नहीं कॉलेज के प्रिंसीपल थे.
समीर :- बिल्कुल सही कहा पायल तुमने.
समीर :- (अब वह गुस्से से) सही कहा. क्या खाख सही कहा इसे कोई भी छेड़े और मै देखता रहू. पायल तो मेरा प्यार हैं अगर फिर दोबारा कोई तुम्हारे साथ ऐसा करेगा तब उसे बहोत मरूँगा क्यों के मेरे मंगट में इतना दम है के किसी का भी कॉलर पकड़ कर मार सकता हूँ.
पायल :- अच्छा तो हर एक की कॉलर पकड़कर मार पिटाई करते रहेना अपने माँ बाप और हमारे आनेवाले फ्यूचर के बारें में मत सोंचना, ठीक है तो करते रहो मर पिटाई मै जा रही हूँ.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani

    यह कहे कर पायल गुस्से वंहा से चली गई उसके जाने के बाद फ़ौरन समीर भी कुछ कहे बिना ही वह भी वंहा से अकेला चला गया. समीर और पायल के जाने के बाद साहिल अपने आप से कहेता हैं.
साहिल :- पता नहीं मै मार पिटाई करता हूँ तो इनको गुस्सा और बुरा क्यों लगता हैं. मुझे लगता हैं जिसे मै पीटता हूँ वह इनके पिछले जन्म में भाई थे शायद. देखता हूँ कबतक गुस्से में रहेंगे कल मै ही इनसे रूठा रहूँगा.
    साहिल जब हर बार मार पिटाई करके घर आता तब माँ को किसी तरह पता चल जाता के आज साहिल ने मारपिटाई की हैं तब माँ साहिल को गुस्से से कुछ बातें सुना देती तब साहिल ही अपनी माँ से रूठने का ढोंग करता तब माँ साहिल के लिए खाना लाती और उसे मना लेती. साहिल ने अपना यह पैतरा पायल के साथ अजमाना चाहा लेकिन पायल उसे माँ की तरह मनाया नहीं बाकि वह खुद ही साहिल से बहोत रूठी हुवी थी.
    साहिल ने दो दिन तक रूठे रहने का ढोंग किया लेकिन पायल की तरफ से कुछ बात नहीं आई. एक हफ्ता गुजर गया साहिल का दोस्त ना उसके साथ था और ना उसका प्यार उसके करीब था. यह दोनों अच्चानक इस तरह से दूर हो गए साहिल से तब साहिल बहोत टूट गया. उसने पायल से बहोत बार बात करने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहा. क्लास में पहले पायल और साहिल एक साथ एक ही डेस्क पर बैठा करते थे लेकिन अब पायल छाया के साथ क्लास में पीछे की तरफ बैठने लगी थी.
Love Story, Prem Kahani, Suraj Pacholi, Kaira Advani,
Story-of-Prem-Kahani




--:: Meet In The Next Part of The Story ::--

No comments

Powered by Blogger.