Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par

Song-Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par-salman-khan-katrina-kaif
Song-Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par


आज फिर तेरी याद आई उन पुरानी राहों से गुजरते हुवे,
लाख दिल में मैंने यह ठाना था
किसी भी तरह तेरी याद मै नहीं करूँगा
क्यों की तू एक बेवफा हैं जो बीच रस्ते में मेरा साथ छोड़ कहीं चली गई,
ना जाने वह कौन सा शहर है जो तुझे मेरे बिना अच्छा लगता है. अये खुदा बस यही दुवा करता हूँ.
उससे उस दिन मुलाकात हो जिस दिन मेरी आखरी साँस हो.
तब पूछुंगा अपने सारे सवालों के जवाब.
जवाब ना भी मिल जाए तो भी मै कुछ नहीं करूँगा.
फिर कुछ वक़्त बाद उससे दूर जा रहा हूँगा.

Song-Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par-salman-khan-katrina-kaif
Song-Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par-salman-khan-katrina-kaif

लड़की :-  यह कैसा कुदरत तेरा खेल है जिसने उससे पहले यह दुनिया छोड़ी उससे यह कहते हैं.
हमारे जिंदगी को ख़त्म करके खुद चैन से जिंदगी गुजारते हैं हम.
मगर उन्हें यह बात कौन समझाये के उनकी जिंदगी को बचाने के लिए हम यंहा पहोंच गए.
जब होगी मुलाकात उनसे तो तब उनसे पूछेंगे के हम सही थे या नहीं.
और यह सवाल भी जरुर पूछेंगे उनसे.
जिंदगी तो तुम्हारी बाकी थी किसी एक पल तो हमें बेवफा ना कहते हुवे याद कर लेते.

Song-Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par-salman-khan-katrina-kaif
Song-Aai-Teri-Yaad-Phir-Us-Mood-Par-salman-khan-katrina-kaif

क्या अपने प्यार पर तुम्हें ऐतबार नहीं था.
एक हम दीवाने थे तुम्हारे, के मर कर भी तुम पर पूरा भरोसा करते थे.

No comments

Powered by Blogger.