IRADE


Story Section No. 6

https://www.wikidata.org/wiki/Q16734076,SURAJ PANCHOLI MOVIE
Story-of-Irade

       स्कूल की वजह से महादेव सर को दुसरे ही दिन वापस जाना पड़ा, माँ की सेहत अभी पूरी तरह से ठीक नहीं हुवी थी इस लिए साहिल कुछ दिन के लिए माँ के पास रुक गया माँ की देख भाल करने के लिए. महादेव सर चले गए और साहिल बाज़ार गया अपनी माँ के लिए फल खरेद ने के लिए तब साहिल को नज़र आई उसकी ड्रीम गर्ल.
https://en.wikipedia.org/wiki/Kiara_Advani,kiara advani kabir singh, kiara advani NEW MOVIE
Story-of-Irade

    उस लड़की की ख़ामोशी और नीची निघाव का साहिल दीवाना हो गया. फल की दुकान से उस लड़की ने जो खरीद ना था वह खरीद कर अपने घर को चलदी और साहिल उसके पीछे-पीछे जाने लगा. कुछ दुरी पर उसका घर था वह अपने घर में चली गई. उस लड़की के घर के सामने एक छोटी सी चाय की हॉटेल थी. उस हॉटेल को एक बहोत कम उम्र का लड़का चलता था. साहिल ने वंहा पर चाय पीते-पीते उस लड़के से दोस्ती करली अब साहिल को उस लड़की का घर पता चल गया और उस लड़की के घर के सामने ठहरने का ठिकाना भी मिलगया था. साहिल वापस अपने घर चला गया.
    अगले दिन से ही साहिल उस चाय की दुकान पर बैठे-बैठे उस लड़की को देखा करता और वह लड़की किसी काम से बाहर जाती तब साहिल उसके पीछे-पीछे जाता. यह सिल-सिला लगातार तीन चार दिन तक चलता रहा लेकिन इस बिच साहिल ने बहोत बार कोशिस की उस लड़की से बात करने की लेकिन खुद हिम्मत ही नहीं जुटा पा रहा था.
kiara advani NEW MOVIE,https://en.wikipedia.org/wiki/Kiara_Advani
Story-of-Irade

    उस लड़की को पता चल गया था के यह हर रोज मेरे पीछे आता है और मेरे घर के सामने वाली चाय की दुकान पर बैठे-बैठे मुझे देखने की कोशिस करता है.
    आज उस लड़की ने अपने घर से कुछ दूर चलने के बाद पीछे मुड़कर देखा के आज वह मेरे पीछे आया की नहीं. तब साहिल हर रोज़ की तरह उसके पीछे चल रहा था. वह लड़की साहिल के करीब आई और साहिल पर गुस्सा होने लगी. उस लड़की के करीब आने से साहिल की धड़कने तेज़ी से चलने लगी जैसे-जैसे वक़्त अहिस्ता-अहिस्ता गुज़रने लगा तब तब जाकर साहिल की साँस में साँस आई उस लड़की ने साहिल से कहा.
मै कब से क्या कहे जा रही हूँ क्या तुम्हे सुनाई नहीं आरहा हैं क्या. अगर कल दुबारा मेरा पिछा किया या मेरे घर के आस पास भी नज़र आए तब मै तुम्हे पुलिस के हवाले करवा दूंगी.
उस लड़की की सारी बातें सुनने के बाद साहिल ने उस लड़की से कहा.
साहिल:- तुम आपने आपको दसवी-बारावी कॉलेज की लड़की और मुझे रोड रोमिओ समझ रही हो क्या. मेरे बारें में तुम्हे बता नहीं हैं शायद के मै कौन हूँ और क्या करता हूँ.
    साहिल के इतना कहने पर ही वह लड़की भड़क गई और गुस्से से कहा.
    मुझे पता नहीं तुम कौन हो और क्या करते हो लेकिन आज के बाद फिर दोबारा मेरे पीछे आए तब मै सच में तुम्हारे नाम पर पुलिस में कम्पलेन कर दूंगी.
    वह लड़की जब यह साहिल से कहे रही थी तब साहिल कुछ और ही देख रहा था. उसे अपना गुज़रा हुवा कल अपने सामने नज़र आ रहा था.
GARIBI,https://en.wikipedia.org/wiki/Poverty_in_India,https://hi.wikipedia.org/wiki/भारत_में_ग़रीबी
Story-of-Irade

    एक औरत अपने सर पर भारी बोज उठाए अपने दुसरे हाथ से एक बच्चे को गोद में लिए चल रही थी. उसके साथ दो और बच्चे थे जिसमे से बड़े बच्चे के सर पर एक पोटली थी और वह बच्चा अपने एक हाथ से अपने सर की उस पोटली को पकडे हुवे था और दुसरे हाथ में अपने से छोटे भाई का हाथ पकड़ कर अपनी माँ के पीछे-पीछे चल रहा था.
    वह औरत और उसके बच्चे जब साहिल के करीब आए तब साहिल ने उस लड़की को छोड़ उस औरत के करीब जाकर उसकी मदत करने लगा. उस औरत को ऑटो में बिठाया उसके घर जाने के लिए, ऑटो वाले को उसके पैसे दिए. उस औरत के बड़े बच्चे में साहिल को अपना बच्चपन नज़र आया था उस बच्चे को अपने जेब के सारे पैसे देकर कहा.
    जिंदगी में कामियाब और कुछ हासिल करना होतो अपनी माँ की हर कही बात सुनो ज़रूर कमियाबी हासिल करोगे.
    वह लड़की साहिल के इस अंदाज़ को देखती ही रहे गई. वह औरत जब ऑटो में बैठ जली गई तब वह लड़की भी साहिल से बिना कुछ कहे वंहा से चली गई और साहिल उसे पीछे से सिर्फ देखता ही रहे गया.
    अगले दिन वह लड़की अपने घर से अपनी नज़रों से साहिल की तलाश करने लगी लेकिंग साहिल कंही नज़र नहीं आया. दोपहर हो गई फिर-भी आज साहिल नज़र नहीं आ रहा था. वह लड़की बाज़ार जाने के लिए अपने घर से निकली और वंहा जाकर रुकी जंहा कल साहिल से बात की थी. उस लड़की ने पीछे मुड़कर देखा साहिल आज उसके पीछे आया की नहीं. पीछे साहिल नज़र नहीं आया था तब उस लड़की के चहरे पर से ख़ुशी चली गई. वह आगे जाने के लिए जैसे ही बड़ी तभी उसके सामने आकर साहिल खड़ा हो गया, वह लड़की चौंक गई और साहिल से कहा.
https://en.wikipedia.org/wiki/Kiara_Advani,https://www.wikidata.org/wiki/Q16734076
Story-of-Irade

    यह क्या बत्तमीजी हैं भला इस तरह कोई किसी के सामने आकर खड़ा हो जाता हैं क्या और मेरे रास्ते से हटों मुझे आगे जाना हैं.
साहिल:- हां चली जाना लेकिन मेरी बात सुनकर. मै तुम्हारा ज्यादा वक़्त बर्बाद नहीं करूँगा इस लिए सीधे अल्फाज़ में डायरेक्ट कहेता हूँ. मुझे तुमसे पहली नज़र में ही सच्चा प्यार हो गया, क्या तुम मुझसे शादी करोगी.
    यह बात साहिल की कहते ही वह लड़की आगे कुछ और सुने बिना ही जाने लगी बिना कुछ कहे. साहिल ने वंही पर खड़े रहेकर उस लड़की से जोरसे कहा.
साहिल:- मेरे सवाल का जवाब दिए बिना ही आगे चली जा रही हो कम-से-कम अपना नाम तो बता देती.
    उस लड़की ने साहिल की बात सुनी और अपनी साडी थोड़ी ऊपर करके अपने पायल बहोत खूब अंदाज़ में दिखाया. साहिल उसके इशारे को समझा नहीं पाया. साहिल अपने घर जा रहा था तब उसकी नज़र पड़ी. एक माँ अपनी बेटी को कहे रही थी.
     “बेटा पायल दौड़ो मत गिर जाओगी.”
https://www.wikidata.org/wiki/Q16734076,https://en.wikipedia.org/wiki/Kiara_Advani
Story-of-Irade

    बहोत खुश होकर साहिल अपने आप से कहता हैं. “अरे पगले उसने तो अपना नाम बताया था.”  तू तो समझा ही नहीं उसका इशारा. वंही पर की एक दुकान से साहिल ने चॉकलेट खरेदी किया और उस पायल नाम की बच्ची को खाने के लिए दिया.

                                मिलते हैं अगले पेज पर....../

No comments

Powered by Blogger.