Tere Naam 2 …… Radhe is Back


Story Section No. 2

https://www.google.co.in/search?client=opera&q=tere+naam+2&sourceid=opera&ie=UTF-8&oe=UTF-8,https://www.youtube.com/watch?v=X2mJ37KMb2s
Story-of-Tere-Naam-2

    अगले दिन सीमा की एक सहेली ने उसी कॉलेज में एडमिशन लिया. वह लड़की और सीमा ने मिलकर साथ चलकर सारी एडमिशन फॉर्मेलिटी पूरी करते हैं. कॉलेज के बहार रस्ते पर कुछ टपोरी लड़के हर रोज़ बैठा करते थे और वह टपोरी लड़के कॉलेज आने जाने वाली सभी लड़कियों को छेड़ा करते थे. वह लड़की और सीमा जब कॉलेज में आ रहे थे तब सीमा और उस लड़की को भी उन लड़कों ने सताया. सीमा मुफट लड़की थी किसी को भी कुछ भी कहदे थी और आज सीमा उन लड़कों को कुछ कहने वाली थी के तभी उसे उसकी सहली ने रोक दिया और कॉलेज में ले गई.
    कॉलेज के बारें में सीमा ने सब कुछ अपनी सहेली को बताया. सीमा को लाइब्रेरी जाना था कुछ किताबे लेने के लिए इस सीमा ने उसे ऑफिस छोड़ वह अकेली लाइब्रेरी को चली गई. लाइब्रेरी के बहार वंही लड़के थे जो कॉलेज के बहार लड़कियों को छेड़ा करते थे. उन लड़कों की नज़र सीमा पर पड़ी वह लड़के फिर दोबारा सीमा को तंग करने लगे. अब सीमा को रोक ने वाला कोई नहीं था उसका गुस्सा आसमान पर पहोंच गया. सीमा ने पलट कर एक लड़के को जोर से तमाचा मार दिया. सारी चाहेल पहेल रुक गई सब के सब सीमा को हैरत से देखने लगे और उस लड़के पर हस दिय. यह देख उस लड़के को भी गुस्सा आ गया और उसने सीमा को मार ने के लिए सीमा पर हाथ उठाया.
    रूद्र वंही पर था वह यह सब कुछ दूर से देख रहा था. जैसे ही उस लड़के ने सीमा पर हाथ उठाया रूद्र ने फ़ौरन अपनी नोट बुक फेक कर उस लड़के को दे मरी.
उस लड़के के करीब आ कर कहा.
रूद्र:- आज के बाद सीमा को या कॉलेज की किसी भी लड़की को छेड़ा तो तुम तुम्हारे पैरों पर चलने के लायेक नहीं रहोगे.
    यह सुनते ही वह सरे मिलकर रूद्र से फाइट करने लगे. रूद्र ने अकेले ही उन सब की ऐसी पिटाई की, के वह सरे रूद्र के पैरों में गिर कर माफ़ी मांगने लगे. जब रुद उन सबसे लड़ रहा था तब वह लड़की भी रूद्र को फाइट करते दूर से देख रही थी. उन लड़कों के माफ़ी मांगने के बाद सब जिधर उधर चले गए. रूद्र सीमा से कुछ बात कहे बिना ही वह वंहा से चला गया, रूद्र को उस लड़की ने देखा लेकिंग रूद्र की नज़र उस लड़की पर पड़ी ही नहीं थी.
वह लड़की सीमा से कहती हैं:- यह सब कौन थे और वह लड़का इस तरह से कॉलेज में मार पिटाई क्यों कर रहा था.
सीमा:- सब कुछ बाद में बताती हूँ, अभी मुझे कुछ काम बाकि है वह पूरा करने के बाद मिलते हैं.
वह लड़की:- ठीक हैं कल मिलते हैं मै अभी घर जा रही हूँ.
    वह लड़की घर चली गई और सीमा ने रूद्र को रुकाया उससे बात करने के लिए.
सीमा:- रूद्र थैंक्स, आज तुमने मेरे लिए बहोत कुछ किया मै तुम्हारा यह अहेसान नहीं भूलूंगी. क्या तुम मुझे अपना दोस्त बनाओगे.
रूद्र:- (हस्ते हुवे कहेता हैं) अरे क्यों नहीं भाभी.
    सीमा चौंकर मुस्कुराते हुवे कहती है.
सीमा:- भाभी और मै तुम्हारी. क्या बात कर रहे हो और भला कौन है वह तुम्हारा भाई जो मुझे चाहता हैं और मुझे इस बता की भनक तक नहीं हैं.
यह सब कुछ जब चल रहा था तब रूद्र अकेला था उस के साथ के सारें दोस्त उसके साथ नहीं थे.
रूद्र:- बताता हूँ बताता लेकिन पहले तुम इस बात का पता कर्लों के वह तुम्हे किस हत-तक प्यार करता हैं. वह मेरा दोस्त और तुम्हारे ही कॉलानी में रहने वाला हैं. अब तुम आगे पता कर लो के वह कौन है जो मेरा दोस्त होने के साथ तुम्हारे ही कॉलानी में रहेता हैं. जब तुम्हे पता चल जाए तब उसे यह कहेना. रूद्र ने आज मेरी बहोत बेजाती की और मुझे सब के सामने तमाचा मारा. फिर तुम्हे पता ही चल जायेगा के वह तुमसे कितना प्यार करता हैं.
    रूद्र यह कहेकर वंहा से चला गया और प्याल वंही यह सोच ती रहे गई के आखिर वह कौन होगा. कुछ देर सोंच ने के बाद सीमा को यह पता चल ही गया के वह पाटिल हैं. सीमा ने पाटिल को कॉलेज में हर तरफ तलाश किया तब जाकर वह उसे मिला कॉलेज के गार्डन में अकेला सो रहा था सीमा की यादों में.
सीमा:- तुम यंहा अराम से सो रहे हो और उधर रूद्र ने मुझे मारा और मेरी बहोत बेजाती की,
    पाटिल पहले परेशान हो गया सीमा को देखती ही, लेकिन सीमा ने जैसे ही कहा रूद्र ने उसे मारा तब वह गुस्से में आ गया और सीमा को ले गया रूद्र के पास जाकर कहने लगा.
पाटिल:- (बहोत गुस्से में) मैने तुझे कहा था ना सीमा को कुछ नहीं कहेने को.
रूद्र:- हां तो, यंहा तक मुझे मारने के लिए आया हैं क्या.
पाटिल :- तू अपने ताकत का गलत उपयोग कर रहा हैं.
रूद्र:- देखा ना सीमा तुमने जो मेरा दोस्त हो कर भी तुम्हारे लिए मुझसे झगड़ रहा हैं.
    सीमा यह सब कुछ चुप-चाप खड़ी देख रही थी. रूद्र की बात ख़त्म होते ही सीमा ने पाटिल से अपने प्यार का इज़हार सबके सामने तभी कर दिया.
सीमा:- पाटिल ILoveYou.
    पाटिल बहोत चौंक गया, के यह सब क्या हो रहा हैं और कैसे क्या सीमा ने इस तरह अचानक अपने प्यार का इज़हार किया. तब रूद्र ने पाटिल को सारी बात बताई. कॉलेज ख़त्म होने के बाद सब अपने अपने घर चले गए. आज से पाटिल और सीमा एक साथ कॉलेज आया करते और एक साथ ही अपने घर चले जाते. अब रूद्र की दोस्त कंपनी में सीमा जुड़ गई.
    अगले दिन, क्लास शुरू हो गई, क्लास में सब बैठे टीचर के लेक्जर को सुन रहे थे. सीमा की साहिल का आज पहला दिन था और वह आज पहले ही दिन क्लास में लेट हो गई. वह जब क्लास में आई तब रूद्र उसे देखता ही रहे गया.
https://www.google.co.in/search?client=opera&hs=kHQ&ei=VawhXdX8AYqDvQTQ8ZWICw&q=kabir+singh&oq=kabir+singh&gs_l=psy-ab.3..0i131l10.2667.6481..7003...0.0..0.372.2600.0j1j9j1......0....1..gws-wiz.......0i71j35i39j0i67j0i10i67.SenOx5MiQ0E
Story-of-Tere-Naam-2

क्लास में रूद्र और उसके दोस्त पीछे के बेंच पर बैठा करते थे. रूद्र बार-बार उस लड़की को देखने लगा.
   --:: Meet In The Next Part of The Story ::--

No comments

Powered by Blogger.